Subscribe Us

header ads

मलाई प्याज़ा


भूख एक ऐसी चीज़ है कि जब लगती है तो ऐसी लगती है कि फौरन खाना चाहिए और अगर खाने के साथ अच्छा खाना मिल जाये तो कहना ही क्या, अक्सर पेट घर में शोर मचवा ही देता है "अब तक खाना नहीं बना" या फिर "जल्दी खाना ले आओ बहुत तेज़ भूख लगी है" और इस स्थिती का सामना मेरी तरह बहुत सी महिलाओं को करना पड़ता है अब ऐसी स्थिति में रोटी तो एक बार को तैयार हो और सब्ज़ी न हो तो और ज़्यादा शोर मचना ही मचना है लेकिन नॉर्थ इंडिया में इसका एक इंतेज़ाम है खासकर देहात इलाकों में वो है प्याज़, हरी मिर्च और एक दो चीज़े होती है जो सरसों के तेल में भूनकर रोटी से खाते है, ये किसी सब्ज़ी से कम नहीं होता और भूख में तो फिर "गूलर भी पकवान" होते है लेकिन जैसा कि दुनिया तरक़्क़ी करती है वैसे ही खाने भी तरक़्क़ी करते है तो इस खाने में भी तरक़्क़ी की और देहात से शहरों में जा पहुंचा और इसके साथ साथ अपडेट भी हुआ सबका अपना अपना वर्ज़न बना लेकिन जो हमारी "अम्मी" का वर्ज़न था उसके कहने ही क्या अगर इसे एक स्पेशल खाने की तरह लिया जाए तो कोई हर्ज़ नहीं और हमने इसका नाम रखा "मलाई प्याज़ा" अब नाम में मलाई है तो ज़ायक़ा भी मलाई होगा ना और इसकी ख़ासियत वही जो आजकल सबको चाहिए "फौरन तैयार" और जैसा मैंने पहले ही बताया कि किसी स्पेशल खाने से कम नहीं और हाँ इसमें लगने वाली सामग्री घर पर ही मौजूद होती ही है और आसानी से मिल जाती है
             तो चलिए इस स्पेशल खाने की तारीफ़ के बाद इसके बनाने के तरीके पर ग़ौर किया जाए ज़्यादा कुछ नहीं है और ज़्यादा कुछ करना भी नहीं है एक कढ़ाई उठाओ एक कलछुल लो और हो जाओ शुरू सामान लो टोकरी से उठाओ 4-5 मध्यम आकार की प्याज़, और लो 4-5 ही टमाटर, 5-6 हरी मिर्च, 100 ग्राम मटर (अगर हो तो, हो ही ज़रूरी नहीं) अब प्याज़ टमाटर और हरी मिर्च फटाफट काट लो और कढ़ाई में चढ़ाओ लगभग 50 ग्राम सरसों का तेल, तेल गर्म होने पर इसमें डाल दो प्याज़ और हल्की सुनहरी होने तक भूनो इसके बाद हरी मिर्च और टमाटर का मेल कढ़ाई में भुनती प्याज़ से करा दो अब इसमें स्वादानुसार नमक, आधा चम्मच लाल मिर्च पिसी हुई ड़ालकर लगभग 5 से 7 मिनट तक पकाओ हल्की आंच पर अगर मटर डाली तो फिर मटर के गलने तक पकाओ जब पक जाए तो अभी सर्व नहीं करना अभी असली चीज़ तो रह ही गई हां मलाई इसमें आप डालिये लगभग 150 ग्राम अगर ज़्यादा फेवरेट है मलाई मेरी तरह आपको भी तो ज़्यादा भी डाल सकते है अब इसे कुछ देर पकाइये और गरमा गरम पेश कीजिये
             फटाफट हो गई न तैयार एक ऐसी सब्ज़ी जो स्वादिष्ट व्यंजन तो है ही जल्दी तैयार होने वाली भी है आप मेहमानों तक के सामने इसे पेश कर सकते है, यक़ीन मानिए बेइज़्ज़ती नहीं होगी
             अच्छा फिर मिलती हूँ किसी और ब्लॉग के साथ तब तक के लिए ख़ुदा हाफ़िज़।

- शीबा अली आसिफ

Post a Comment

1 Comments